Sunday, June 16, 2024
Google search engine
Homeछत्तीसगढ़जब-जब वादा याद दिलाया गया, प्रदेश सरकार ने तब-तब बेरोजगारों पर लाठियाँ...

जब-जब वादा याद दिलाया गया, प्रदेश सरकार ने तब-तब बेरोजगारों पर लाठियाँ बरसाईं-चंदेल

कांग्रेस सरकार बेरोजगारी जैसे संवेदनशील मसले पर भी संजीदा नहीं

युवाओं के आक्रोश पर भाजपा ने पूछे 6 सवाल

रायपुर– छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार बेरोजगारी जैसे संवेदनशील मसले पर भी संजीदा नहीं है,और युवा बेरोजगारों और उनके परिवारों के सपनों को कुचलकर उनके सुनहरे भविष्य को हताशा-निराशा की गहन अंधी खाइयों में धकेलकर राजनीतिक मिथ्याचार का पोषण करने में लगी है. चंदेल ने कहा कि हाल ही पीएससी भर्ती परीक्षा में सामने आईं गड़बड़ियों से भी साबित हुआ है कि प्रदेश सरकार हर जगह घपले करके भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी के अवसरों की ताक में रहती है. नेता प्रतिपक्ष चंदेल ने कहा कि रोजगार देने का वादा करने वाली सरकार को जब-जब उसका वादा याद दिलाया गया, प्रदेश सरकार ने तब-तब बेरोजगारों पर लाठियाँ बरसाईं. बेरोजगारी भत्ता देने के नाम पर प्रदेश सरकार जिस तरह के रोज नये शिगूफा छोड़ रही है, प्रदेश का युवा उससे बेहद संत्रस्त है, और यक़ीनन समय आने पर वह इस सरकार को माक़ूल ज़वाब देगा. चंदेल ने प्रदेश में बेरोजगारी और युवाओं के साथ छलावे से उपजे युवा आक्रोश के मद्देनजर प्रदेश की भूपेश सरकार पर सवालों की बौछार करते हुए हमला बोला और प्रदेश सरकार से इन सवालों का जवाब मांगा है.

1. छत्तीसगढ़ के युवाओं का 15 हजार करोड़ रुपए का बेरोजगारी भत्ता प्रदेश की भूपेश सरकार कब देगी?

2. प्रदेश में कांग्रेस शासनकाल में हुई 26 हजार आत्महत्याओं में 18 हजार से ज्यादा आत्मगत्या युवाओं ने की है. आखिर युवा प्रदेश सरकार की नीतियों से इतना निराश क्यों है?

3. प्रदेश के मेहनतकश युवाओं के भविष्य के साथ पीएससी घोटाला करके प्रदेश के प्रशासनिक तंत्र तक में भ्रष्टाचार किया गय,इसमें कौन-कौन लोग शामिल हैं?

4. 200 फूड प्रोसेसिंग युनिट लगाकर बेरोजगारों, विशेषकर किसानों के बेटों को रोजगार दिया जाना था। पिछले विधानसभा चुनाव में के गए इस वादे का क्या हुआ?

5. आज भी प्रदेश में 18 लाख से ज्यादा पंजीकृत बेरोजगार हैं। प्रदेश की कांग्रेस सरकार उन्हें रोजगार देने में विफल क्यों रही है?

6. प्रदेश में निवेश के माध्यम से नए रोजगार का सृजन कर प्रदेश की हुनरमंद तरुणाई को आत्मसम्मान के साथ जीवनयापन के अवसर देने में विफल क्यों है?

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments