Wednesday, June 19, 2024
Google search engine
Homeछत्तीसगढ़सी-विजिल एप से फ्लाइंग स्क्वायड तक पहुंची शिकायत, साड़ी के सैकड़ों बंडल...

सी-विजिल एप से फ्लाइंग स्क्वायड तक पहुंची शिकायत, साड़ी के सैकड़ों बंडल जब्त

रायपुर- छत्तीसगढ़ में नामांकन का दौर होने के साथ चुनावी सरगर्मी बढ़ने लगी है। छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले की सीतापुर विधानसभा में फ्लाइंग स्क्वायड साड़ियों के सैकड़ों बंडल जब्त किए गए हैं। बीजेपी उम्मीदवार ने सोशल मीडिया पर जब्त साड़ियों का वीडियो जारी किया है।

जिसके बाद कांग्रेस और बीजेपी में जुबानी जंग तेज हो गई है। बता दें सीतापुर विधानसभा कांग्रेस के दिग्गज मंत्री अमरजीत भगत का निर्वाचन क्षेत्र है वहीं बीजेपी की ओर से सेना की नौकरी छोड़ कर चुनाव मैदान में उतरे रामकुमार टोप्पो को मैदान में उतारा गया है। इसी बीच सोशल मीडिया में साड़ी बांटने का वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। जो सीतापुर विधानसभा के नर्मदापुर के खालपारा का बताया जा रहा है।

इस वीडियो को भाजपा प्रत्याशी ने अपने वाट्सएप ग्रुप में डाला है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताया जा रहा है। मौके पर मौजूद एक शख्स ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि नर्मदापुर, खालपारा में साड़ी का बंडल मिला है। मंत्री के कार्यकर्ता लोग बंटवा रहे थे, उड़नदस्ता दल ने 30 नग साड़ी जब्त किया है।

उसका कहना है कि उड़नदस्ता टीम के आते तक साड़ी लेकर आने वाले लोग भाग गए थे। इस संबंध में सीतापुर के क्षेत्रीय विधायक व मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि भाजपाइयों को बीमारी हो गई है कि कुछ भी होगा तो उसको कांग्रेसी ही करवा रहे हैं। साड़ी वाले मामले से हमारा कोई लेना देना नहीं है।

पुलिस ने पल्ला झाड़ा, हमने नहीं निर्वाचन की फ्लाईंग स्क्वायड पकड़ा

वहीं इस मामले में मैनपाट के कमलेश्वरपुर थाना प्रभारी अशोक शर्मा का कहना है कि हमने नहीं पकड़ा है। निर्वाचन की फ्लाईंग स्क्वायड की टीम ने पकड़ा है। उन्हें 29 नग साड़ी लावारिस हालत में पड़ी मिली है। जिसे थाने में जमा कराया है। साड़ी किसकी है का सवाल करने पर थाना प्रभारी ने कहा कि मुझे पता नहीं है।

सी-विजिल एप से मिली सूचना

निर्वाचन आयोग के फ्लाइंग स्वायड प्रभारी संजय यादव ने बताया कि हमें सी-विजिल एप के माध्यम से सूचना मिली थी तो मौके पर गए। जब वहां पहुंचे तो लोगों की भीड़ थी। साथ ही मौके पर साड़ियां पड़ी थी। उसे जब्त कर आस पास पूछताछ की, लेकिन साड़ियां किसकी है। इस संबंध में पता नहीं चला है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments