Wednesday, July 10, 2024
Google search engine
Homeछत्तीसगढ़गरीबों को 10 लाख तक मुफ्त में इलाज, भूमिहीन मजदूरों को अब...

गरीबों को 10 लाख तक मुफ्त में इलाज, भूमिहीन मजदूरों को अब मिलेंगे 10 हजार रुपए- राहुल गांधी

कवर्धा – कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कवर्धा व पंडरिया के कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में आयोजित चुनावी सभा में जन कल्याणकारी घोषणाओं की भरमार लगा दी। उन्होंने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने पर भूमिहीन खेतीहर मजदूरों को मिलने वाली 07 हजार रूपए की राशि को बढ़ाकर 10 हजार करने, तेंदूपत्ता संग्राहकों को 04 हजार हजार रूपए सालाना बोनस, सरकारी स्कूलों, कॉलेजों में केजी से लेकर पीजी तक की शिक्षा निःशुल्क करने, जातिगत जनगणना कराने और गांवों में फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाने की घोषणा की। उन्हांेने अपने पूरे भाषण में भाजपा व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाने पर रखा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने उद्योगपतियों मित्रों का 14 लाख करोड़ रूपए का कर्जा माफ किया है। कांग्रेस गरीबों, किसानों, मजदूरों, छोटे व्यापारियों का इतना ही कर्जा माफ करेगी। राहुल गांधी की सभा में भीड़ का यह आलम था कि सरदार पटेल मैदान में जितनी भीड़ थी उतनी ही भीड़ मैदान की बाहर मौजुद थी। राहुल गांधी की सभा से कांग्रेस पार्टी के पक्ष में माहौल बन गया है।

कांग्रेस जो कहती है वो करती है

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने भाषण की शुरूआत में कहा कि कांग्रेस जो कहती है वो करती है। उन्होंने विधानसभा की पिछले चुनाव में किसानों का कर्जा माफ करने, धान 2500 रूपए क्विंटल में खरीदने की घोषणा की थी। कांग्रेस की सरकार ने 26 लाख किसानों का 23 हजार करोड़ रूपए का कर्जा माफ किया है। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार अभी 2640 रूपए में धान की खरीदी कर रही है। आने वाले समय में धान 3000 रूपए क्विंटल की दर से खरीदा जाएगा। राहुल गांधी ने तेंदूपता संग्राहकों को प्रतिमानक बोरा का भुगतान 2500 की दर से बढ़ाकर 4 हजार रूपए करने का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस की अगली सरकार संग्राहकों को प्रतिवर्ष 4 हजार रूपए बोनस अलग से प्रदान करेगी। कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी ने प्रदेश के 400 अंग्रेजी माध्यम के सरकारी स्कूल खुलने का उल्लेख करते हुए कहा कि आज किसानों, मजदूरों के बच्चों को अंग्रेजी माध्यम से निःशुल्क शिक्षा मिल रही है। चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो केजी कक्षा से लेकर पीजी याने स्नातकोत्तर तक की शिक्षा निःशुल्क प्रदान की जाएगी। अपनी घोषणाओं के क्रम में राहुल गांधी ने फुड प्रोसेसिंग प्लांट खुलने की घोषणा की। उनका कहना था कि अनाज, सब्जी, फलों एवं अन्य फसलों को सीधे प्लांट तक पहंुचाने से किसानों को उनकी फसल का उचित दाम भी मिलेगा। राहुल गांधी यही तक नहीं रूके बल्कि उन्होंने केन्द्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर छत्तीसगढ़ मेें दो, तीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट स्थापित करने की घोषणा कर दी। गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में उगने वाली सब्जियां, फल व अनाज को अमेरिका, जपान व दुबई जैसे देशों में भेजा जा सकेगा।

बड़े उद्योगपतियों के मित्र हैं पीएम मोदी

किसी भी सरकार कार्य को बताते हुए राहुल गांधी का कहना था कि कांग्रेस सरकार किसानों, मजदूरों, छोटे व्यापारियों के हित के लिए कार्य करती है। ये लोग देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ होते है। किसानों का कर्जा माफ किया जाए, मजदूरों को आर्थिक सहायता दी जाए तो उनका पैसा समानो की खरीदी के माध्यम से छोटे व्यापारियों तक पहंुता है। जहां कांग्रेस सरकार इस तरह की अच्छी सोंच के साथ कार्य करती है, तो दूसरी ओर भाजपा है जो अरबों की संपत्ति वाले उद्योगपतियों के हितों के लिए कार्य करती है। नरेन्द्र मोदी ने नोटबंदी, जीएसटी लगाकर गरीबों, किसानों, मजदूरों व छोटे व्यापारियों से टैक्स वसूला और इस टैक्स की राशि से ही अडानी और दूसरे उद्योगपतियों के लाख करोड़ के कर्जा को माफ कर दिया। नरेन्द्र मोदी ने किसान विरोधी अध्यादेश अपॅने उद्योगपति मित्रों को फायदा पहुंचाने लाया था। नरेन्द्र मोदी ने विदेशों में जमा काला धन लाकर प्रत्येक व्यक्ति के खाते में 15-15 लाख रूपए जमा करने का झूठा वादा किया था।

जातिगत जनगणना का विरोध करते है पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल गंाधी ने कहा कि नरेन्द्र मोदी अन्य पिछड़ा वर्ग के हितों के लिए काम करने का दावा करते है। वहीं दूसरी ओर वे जातिगत जनगणना का विरोध करते है। देश में ओबीसी की आबादी 50 प्रतिशत है। लेकिन केन्द्र सरकार में कुल 90 सचिवों में से मात्र 03 सचिव ही ओबीसी वर्ग से आते हैै। केन्द्रीय सचिव ही देश केा बजट में यह तय करते है कि किस योजनाओं व विभागों के लिए कितना बजट रहेगा। मोदी सरकार देश के अनुसुचित जाति व आदिवासी वर्ग की भी कोई फिक्र नहीं करती है।

भाजपा जीती तो छत्तीसगढ़ की संपत्ति बिकेगी

राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी पर नफरत की राजनीति के जरिए अशांति फैलाकर अपनी राजनीतिक रोटी सेकने का आरोप लगाया। उनका कहना था कि हमने नफरत के बाजार में मोहब्बत की दुकान खोली है। उन्होंने चुनाव में कांग्रेस को जीताने की अपील की। उनका कहना था कि चुनाव में कमल का बटन दबेगा तो छत्तीसगढ़ की खदाने, प्लांट, एयरपोर्ट व अन्य संपत्ति अड़ानी के पास चली जाएगी। किसानों को उनकी फसल का दाम नहीं मिलेगा। कांग्रेस की सरकार बनने पर गरीबों, किसानों, मजदूरों, छोटे व्यापारियों के हित में कार्य शुरू होगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments