Saturday, February 24, 2024
Google search engine
Homeदिल्लीदो दिवसीय झारखंड के दौरे पर पीएम मोदी, भगवान बिरसा मुंडा की...

दो दिवसीय झारखंड के दौरे पर पीएम मोदी, भगवान बिरसा मुंडा की जन्मस्थली पर जाएंगे 

रांची – मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए जारी प्रचार अभियान के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 14-15 नवबंर को झारखंड का दौरा करने वाले हैं, इस दौरान भगवान बिरसा मुंडा की जन्मस्थली उलिहातू गांव जाएंगे और जनजातीय समूहों पर केंद्रित कार्यक्रम की शुरुआत करुंगा। 

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के मुताबिक वह विकसित भारत संकल्प यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना करने वाले हैं। पीएम-किसान की 15वीं किस्त जारी कर और झारखंड में कई विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने वाले हैं। पीएम मोदी 15 नवंबर की सुबह रांची में भगवान बिरसा मुंडा स्मारक उद्यान में स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय का दौरा कर भगवान बिरसा मुंडा की जन्मस्थली उलिहातू गांव पहुंचने का कार्यक्रम हैं। जहां वह भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने वाले है। पीएमओ ने कहा कि मोदी भगवान बिरसा मुंडा की जन्मस्थली उलिहातू गांव का दौरा करने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं। 

वह खूंटी में आयोजित तीसरे जनजातीय गौरव दिवस के समारोह में भी भाग लेने वाले हैं। प्रधानमंत्री इस अवसर पर आईईसी (सूचना, शिक्षा और संचार) वैन को हरी झंडी दिखाएंगे। यात्रा शुरू में महत्वपूर्ण जनजातीय आबादी वाले जिलों से शुरू होगी और 25 जनवरी 2024 तक देश भर के सभी जिलों को कवर करेगी। कार्यक्रम के दौरान, मोदी विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूहों (पीवीटीजी) के समग्र विकास के उद्देश्य से 24,000 करोड़ रुपये की एक योजना की शुरुआत करने वाले हैं। 

2023-24 के बजट में, पीवीटीजी की सामाजिक-आर्थिक स्थितियों में सुधार के लिए योजना की घोषणा की गई थी। पीएमओ के मुताबिक, 18 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 75 पीवीटीजी हैं, जो लगभग 28 लाख की आबादी वाले 220 जिलों में फैले 22,544 गांवों में रहते हैं। पीएमओ ने कहा कि ये जनजातियां बिखरी हुई हैं और वन क्षेत्रों के दूरस्थ व दुर्गम इलाकों में रहती हैं। इसकारण पीवीटीजी परिवारों और बस्तियों को सड़क और दूरसंचार संपर्क से जोड़ने, बिजली, सुरक्षित आवास, स्वच्छ पेयजल, स्वच्छता, शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण तक बेहतर पहुंच और स्थायी आजीविका के अवसरों जैसी बुनियादी सुविधाओं को पूरा करने के लिए यह योजना बनाई गई है। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments